रायपुर : छत्तीसगढ़ के 30 सरकारी कॉलेजों में सेटेलाइट कक्षाओं की तैयारी : अगले साल जनवरी से सेटेलाइट आधारित वर्चुअल क्लासरूम

देश-विदेश के विषय विशेषज्ञ विद्यार्थियों का करेंगे मार्गदर्शन

रायपुर, 02 नवम्बर 2017

राज्य सरकार के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ के 30 सरकारी कॉलेजों में सेटेलाईट आधारित  कक्षाएं शुरू करने की तैयारी की जा रही है। इन कक्षाओं को जनवरी 2018 से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने आज यहां बताया कि प्रत्येक कॉलेज में एक - एक घंटे की दो कक्षाएं सेटेलाइट आधारित होंगी। उन्होंने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग ने इस परियोजना के लिए प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है। सम्पूर्ण परियोजना पर दो करोड़ 10 लाख रूपए का खर्च आएगा। श्री पाण्डेय ने बताया कि परियोजना के तहत चयनित कॉलेजों में सेटेलाइट आधारित वर्चुअल क्लास रूम शुरू किए जाएंगे। इसका फायदा यहां के विद्यार्थियों को मिलेगा। उन्हें देश-विदेश के विषय विशेषज्ञों से सेटेलाइट  के जरिए विभिन्न विषयों में मार्गदर्शन मिलेगा और वे अपने ज्ञान की वृद्धि कर सकेंगे।
उन्होंने बताया कि सेटेलाइट आधारित क्लास रूम के लिए चयनित सरकारी कॉलेजों में दुर्ग जिले का शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोतर महाविद्यालय, राजनांदगांव जिले का शासकीय रानी अवंति बाई महाविद्यालय घुमका और शासकीय लाल श्याम शाह महाविद्यालय मानपुर, कवर्धा जिले का शासकीय गजानंद माधव मुक्ति बोध महाविद्यालय सहसपुर लोहारा और शासकीय स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय बोड़ला, रायगढ़ जिले का शासकीय संत गहिरागुरू रामेश्वर महाविद्यालय लैलूंगा शामिल हैं।
इसी तरह जिला रायपुर के शासकीय डॉक्टर राधा बाई नवीन कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, महासमुंद के शासकीय स्वर्गीय राजा विरेन्द्र बहादुर सिंह महाविद्यालय सरायपाली, धमतरी के शासकीय सुखराम नागे महाविद्यालय नगरी, सुकमा के शासकीय शहीद बापू राव स्नातकोतर महाविद्यालय और शासकीय नवीन महाविद्यालय कोंटा में सेटेलाइट आधारित कक्षाएं प्रारंभ होगी। सूरजपुर जिले के शासकीय रेवतीरमन मिश्रा स्नातकोत्तर महाविद्यालय, गरियाबंद के शासकीय नवीन महाविद्यालय मैनपुर, बालोद के शासकीय नवीन महाविद्यालय मंगचुआ, कांकेर जिले के शासकीय वीर गेंदसिंह महाविद्यालय पंखाजूर और शासकीय लाल कलिंद सिंह महाविद्यालय अंतागढ़ जिला बस्तर (जगदलपुर) के शासकीय महाविद्यालय बकावंड और शासकीय नवीन महाविद्यालय तोकापाल, कोण्डागांव जिले के शासकीय नवीन महाविद्यालय फरसगांव और नारायणपुर के शासकीय स्वामी आत्मानंद स्नातकोत्तर महाविद्यालय में भी सेटेलाइट आधारित क्लासरूम शुरू किए जाएंगे।
उन्होंने यह भी बताया कि दंतेवाड़ा जिले के शासकीय दंतेश्वरी स्नातकोतर महाविद्यालय,  बिलासपुर के शासकीय महाविद्यालय मरवाही, जशपुर नगर के शासकीय महाविद्यालय बगीचा और शासकीय नवीन महाविद्यालय आरा, बलरामपुर जिले के शासकीय नवीन महाविद्यालय सनावल, शासकीय नवीन महाविद्यालय रामचंदपुर, कोरिया जिले के शासकीय नवीन महाविद्यालय सोनहत, बलौदाबाजार के शासकीय शहीद वीर नारायण सिंह महाविद्यालय बिलाईगढ़, बेमेतरा जिले के शासकीय महाविद्यालय थानखम्हरिया और मुंगेली जिले के शासकीय वीरांगना अवंति बाई लोधी महाविद्यालय पथरिया में भी सेटेलाइट आधारित कक्षाएं शुरू की जाएंगी।

 

क्रमांक-3267 /अंजू

 


Secondary Links