रायपुर : सामाजिक सहायता पेंशन का भुगतान डी.बी.टी. से कराने के निर्देश

विशेष सचिव समाज कल्याण श्री प्रसन्ना ने की विभागीय काम-काज की समीक्षा

रायपुर, 10 नवम्बर 2017

समाज कल्याण विभाग के नवनियुक्त विशेष सचिव श्री आर. प्रसन्ना ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में सभी जिला अधिकारियों की राज्य स्तरीय बैठक लेकर विभागीय काम-काज की समीक्षा की। उन्होंने सामाजिक सहायकता कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित पेंशन योजनाओं के सभी हितग्राहियों को पेंशन का भुगतान प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डी.बी.टी.) के माध्यम से कराने के निर्देश दिए। इसके लिए इस महीने की तीस तारीख तक पेंशन योजना के शतप्रतिशत हितग्राहियों का आधार नम्बर बैंक खातों से सीडिंग कराने और ऐसे हितग्राही जिनका खाता पोस्ट ऑफिस में संधारित है, उनके खाते को कोर बैंकिग वाले बैंक में स्थानांतरित कराने के निर्देश दिए। श्री प्रसन्ना ने दिव्यांगजनों के लिए विशिष्ट पहचान पत्र (यू.डी.आई.डी.) परियोजना के तहत कार्ड जारी करने के भी निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए।
बैठक में संचालक समाज कल्याण डॉ. संजय अलंग ने प्रस्तुतिकरण के जरिये विभागीय योजनाओ, कार्यक्रमों और उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डिजिटल इंडिया के तहत सभी  हितग्राहियों का पेंशन भुगतान डी.बी.टी. के माध्यम से करने की प्रकिया 15 अगस्त 2017 से शुरू की गयी है। अब तक राज्य के 27 में से 17 जिलों में दो लाख चार हजार 242 हितग्राहियों को डी.बी.टी. से पेंशन का भुगतान किया जा रहा है। इनमें रायपुर, गरियाबंद, धमतरी, दुर्ग, बालोद, बेमेतरा, राजनांदगांव, बस्तर, कोण्डागांव, उत्तर बस्तर (कांकेर), नारायणपुर, बिलासपुर, मंुगेली, कोरबा, रायगढ़ सरगुजा और कोरिया जिले शामिल है। डॉ. अलंग ने बताया कि राज्य में सामाजिक सहायता कार्यक्रम के अंतर्गत पेंशन प्राप्त हितग्राहियों की संख्या आठ लाख 46 हजार 154 है। इनमें से चार लाख 44 हजार 852 हितग्राहियों के बैंक खाते के साथ आधार नम्बर का सीडिंग हो चुका है। उन्होंने बताया कि यू.डी.आई. परियोजना के तहत 22 हजार 247 दिव्यांगजनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। इनमें से 11 हजार 117 लोगों को कार्ड जारी कर दिया गया है। बैठक में दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना, छत्तीसगढ़ निःशक्तजन वित्त एवं विकास निगम के तहत ऋण वितरण, सुगम्य भारत अभियान के तहत चयनित भवनों आदि की जिलेवार समीक्षा की गयी। बैठक में सभी जिला अधिकारी और विभिन्न बैंको के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

क्रमांक- 3413/काशी


Secondary Links