जांजगीर-चांपा : समय-सीमा की बैठक संपन्न : उद्योगों में स्थापित बोर और उसके जल के उपयोग का होगा परीक्षण

नियमों का उल्लघंन पाये जाने पर की जाएगी कार्रवाई
रेडी टू ईट निर्माण कार्य में अनियमितता बरतने वाले महिला समूहांे को हटाने के निर्देश
साप्ताहिक लक्ष्य तय कर सुनिश्चित किया जाए फसल कटाई प्रयोग


      जांजगीर-चांपा, 14 नवंबर 2017

  कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष मंे आयोजित समय-सीमा की बैठक मंे सभी विभाग के टी-एल प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा की। डॉ. भारतीदासन ने कहा कि सभी एसडीएम उद्योगों में पेयजल के लिए स्थापित बोर का परीक्षण सुनिश्चित करंे। वहां यह देखें कि परमिशन के अनुसार बोर खनन हुआ है अथवा नहीं और उसके जल का किस तरह से उपयोग हो रहा है। यदि बोर खनन और जल के उपयोग में नियमों का उल्लघंन पाया जाता है, तो तत्काल कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि लाल झण्डे से चिन्हांकित शासकीय जमीन पर जहां-जहां फसल लगी है, वहां जप्ती की कार्रवाई की जाए। संबंधित पटवारियों पर भी कार्रवाई सुनिश्चित करें। एसडीएम सक्ती को नंदौरकला और सकरेलीखुर्द से बेजाकब्जा हटाने के लिए भी कहा है।
       कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग के आंगनबाड़ी केन्द्रों मंे वितरित रेडी टू ईट की गुणवत्ता पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि रेडी टू ईट बनाने के लिए जिस दिन सभी खाद्य सामग्रियों को मिलाया जाएगा, उस दिन आवश्यक रूप से पर्यवेक्षक उपस्थित रहेंगी। पर्यवेक्षक रेडी टू ईट चखकर उसकी गुणवत्ता को भी परखें। रेडी टू ईट निर्माण कार्य में अनियमितता बरतने वाले महिला स्व सहायता समूहांे को तत्काल हटाने की कार्रवाई की जाए। बैठक मंे जिला पंचायत सीईओ श्री अजीत वसंत, अपर कलेक्टर श्री डी.के. सिंह, वनमण्लाधिकारी श्रीमती सतोविशा समाजदार और सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।
       कलेक्टर ने एसडीएम, तहसीलदार और सीएमओ को चिप्स द्वारा चिन्हित सेवाओं के सभी आवेदन लोक सेवा केन्द्र या च्वाईस संेटर से ऑनलाईन लिया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों में जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र, गुमास्ता, भवन अनुज्ञा निर्माण, दुकान पंजीयन सहित चिन्हित सेवाओं के आवेदन ऑनलाईन निराकृत किये जाएं। मेनुअल नहीं करें। कलेक्टर ने राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारियों को फसल कटाई प्रयोग के लिए साप्ताहिक लक्ष्य तय करने के लिए कहा है। उन्होंने बिजली विभाग में संचालित सौभाग्य योजना के तहत योजनाबद्ध तरीके से लोगों से आवेदन संकलित कराने के निर्देश दिये हैं। शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान उन्होंने शिक्षकों (पंचायत) की सीपीएस कटौती संबंधी प्रकरण को 10 दिन के अंदर निराकृत करने के निर्देश दिये हैं।
       कलेक्टर ने 15 नवंबर से शुरू हो रहे धान खरीदी की चर्चा करते हुए कहा कि सभी नोडल अफसर गंभीरता पूर्वक धान खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण करेंगे। वे सुनिश्चित करंेगे कि धान खरीदी केन्द्रों मंे वही किसान  होंगे, जिन्हंे उसी दिन टोकन जारी हुआ है। पहले या बाद मंे जारी हुए टोकन के साथ पाये जाने पर कार्रवाई की जाए। केन्द्र भ्रमण के दौरान उपस्थित किसानों से अवश्य चर्चा करें और उनके पास उपलब्ध ऋण पुस्तिका देख लें। स्टेकिंग की व्यवस्था, एक स्टेक में कितना बोरा होना चाहिए, इनकी भी जांच की जानी चाहिए। नोडल अधिकारी हर सप्ताह भ्रमण रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे, जिसमें जांच में पाये गये तथ्यों का उल्लेख रहेगा।
क्रमांक//सुनीता


Secondary Links