जशपुरनगर : जशपुर में शुरू हुआ मध्यभारत का पहला फॉल्स सिलिंग स्कील ट्रेनिंग सेंटर : श्री विष्णुदेव साय ने किया उद्घाटन

जशपुरनगर 14 नवम्बर 2017

मध्यभारत का पहला फॉल्स सिलिंग और ड्रायवॉल स्किल टेªनिंग संेटर सोमवार को जशपुर जिले के आरा में खोला गया। इसका उद्घाटन लोक सभा सांसद श्री विष्णुदेव साय ने किया। यह सेंटर पेस एवं जिप्रॉक की मदद से खोला गया। आज के दौर में एक सुन्दर घर हर किसी की चाह है और घरों की सुन्दरता बढ़ाने के लिए फॉल्स सिलिंग का निर्माण एक आम बात हो गई है। ऐेसे समय में जिले के युवक युवतियों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है जहां वह शासन के स्कील कार्यक्रम से जुड़कर, इस कला में पारंगत होकर, कुछ ही महीनों में हजारों की नौकरी पा सकते है। इसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद जिले के युवक युवतियां के पास नौकरियों के कई अवसर उपलब्ध होंगे जहां वह अपनी काबिलियत के दम पर अपनी पसंद के अनुसार अपनी मर्जी की नौकरी पा सकेगें। इस अवसर पर पूणे हैदराबाद एवं अन्य स्थानों में प्लेसमेंट पाए युवक एवं युवतियों को सांसद महोदय के हाथों से प्लेसमेंट प्रमाण पत्र भी दिया गया।
इस अवसर पर श्री विष्णुदेव साय ने आईटीआई आरा में प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने हुनर से नौकरी प्राप्त कर ज्वाइनिंग के लिए जा रहे युवक युवतियों को शुभकानाए ंदी।  उन्होंने कहा कि जशपुर के युवक युवतियों ईमानदारी से काम करने और मेहनत करने के लिए  हमेशा तत्पर रहते है। उन्हांेने कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला को भी धन्यवाद कहा कि उन्होंने अपने डेढ़ साल की कार्यकाल में जशपुर जिले को आगे बढ़ाने में बहुत मेहनत की है जिससे की जशपुर के लोग आगे बढ़ रहें हैं उन्होंने जशपुर में बेरोजगार युवक युवतियों को रोजगार से जोड़ने के लिए कई टेªनिंग सेंटर भी खुलावाया जिससे आज बेरोजगार युवक युवतियां अपने हुनर और मेहनत से रोजगार पा कर अपने परिवार का भरण पोषण कर रहें है।
    उन्होंने बताया कि बाहर की कम्पनियों के अधिकारी कहते है कि जशपुर के लोग मेहनती एवं ईमानदार होते है इसलिए जशपुर के लोगोें की हर तरफ वाहवाही होती है। खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार राय ने कहा कि जशपुर में चल रहे स्कील के प्रशिक्षण से युवक आगे बढ़ रहें है। उन्होंने कहा कि जशपुर जिले के युवकों में देश के प्रति प्रेम और आस्था है वे हमेशा देश की सुरक्षा के लिए आगे रहते है। आज जो भी युवक या युवतियां बाहर जाते है वे जशपुर का नाम रौशन करते है।
कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बेरोजगार लोगों तक कौशल विकास की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए प्रेरकों को उन्होंने धन्यवाद दिया।  उन्होंने राईट टू स्कील का लाभ लेने के लिए सभी युवकों से निवेदन किया। उन्होंने बताया कि लगभग डेढ़ सालों में 15 हजार बेरोजगारों को स्कील से जोडा गया है। जहां भी जशपुर के लोगों ने एक बार काम कर लिया है, वहां की कम्पनीयों आज जशपुर के लोगों को ही काम के लिए ढूंढती हैं। उन्होंने कहा कि यह जशपुर जिले के लिए गर्व की बात है।  
कठीनाईयों से भरी थी मनीषा और रेशमा के सफलता की डगर
    सिकिरमा, फरसाबहार निवासी मनीषा पैंकरा के 4 सदस्यी परिवार का भरण पोषण बहुत मुश्किल से होता था। 12 वीं की परीक्षा पास करने के बाद मनीषा बेहतर आय की तलाश में भटक रही थी। तभी उसे एक स्किल को-ओर्डिनेटर से  हॉस्पीटेलिटी  स्किल के बारे में पता चला मनीष को हमेशा से घर सजाने, सवारने और स्वच्छ रखने का शौख था। उसने तुरंत ही स्किल सेंटर ज्वाईन किया एवं बैंडमेकिंग, कम्प्युटर, अंग्रेजी, सेल्फ ग्रुमिंग इत्यादि का ढाई महीने का प्रशिक्षण लिया। आज प्रशिक्षण उपरांत हैराबाद के एक बढ़े होटल में लगभग साढे आठ हजार रुपए वेतन के साथ निःशुल्क रहना और खाना की नौकरी प्राप्त हो गई है। कुछ ऐसी ही कहानी जुमईकेला निवासी बीकॉम पास रेशमा किन्डो की है। इलेक्ट्रीकल टेªड में प्रशिक्षण लेकर उसने प्रैरेलल, सिरिज, स्थाई, अस्थाई, वारिंग, इत्यादि सीखा आज उसे पूणे में 8 हजार रुपए वेतन और निःशुल्क रहना खाना की नौकरी मिल गई है। इन्हीं की तरह और भी सैकड़ो युवक एवं युवतियांे ने आरा स्थित स्किल सेंटर से प्रशिक्षण प्राप्त किया और आज देश के विभिन्न स्थानों पर सम्मानजनक रूप से अपनी आजीविका अर्जित कर रहे है। अब इस सेंटर में फॉल्स सिलिंग और ड्रायवॉल निर्माण का प्रशिक्षण भी स्किल की सूची में जुड़ गया है। जिससे युवक युवतियों की कुशलता में और बढ़ोत्तरी होगी।
    इस अवसर पर जशपुर सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक श्री राजशरण भगत, कुनकुरी विधायक श्री रोहित साय, पत्थलगांव विधायक श्री शिवशंकर साय पैंकरा, आईटीआईआरा के प्राचार्य सहित बड़ी संख्या में युवक युवतियों उपस्थित थे।  
स.क्र./49/ 


Secondary Links