जगदलपुर : संभागीय जल उपयोगिता समिति की बैठक संपन्न

संभाग में सिंचाई सुविधाओं का विस्तार करने संभागायुक्त ने दिए निर्देश
कृषकों को सिंचाई सुविधा का मिले अधिक से अधिक लाभ-कमिश्नर

जगदलपुर, 07 दिसम्बर 2017

संभाग आयुक्त श्री दिलीप वासनीकर की अध्यक्षता में आज संभागीय कार्यालय सभाकक्ष में संभागीय जल उपयोगिता समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में श्री वासनीकर ने कहा कि बस्तर संभाग में सिंचाई सुविधाओं का विस्तार होने से कृषक अच्छी फसल लेकर अपने आय में वृद्धि कर अपने जीवन स्तर को ऊंचा उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग तथा कृषि विभाग के संभाग तथा जिला स्तरीय अधिकारियों को समन्वय के साथ काम करते हुए अधिक से अधिक किसानों को सिंचाई सुविधा का लाभ प्रदान करने के लिए प्रयास करना चाहिए। कमिश्नर ने निर्देशित किया कि कृषकों को सिंचाई सुविधाओं के लाभ के संबंध में विस्तार से जानकारी कृषकों को प्रदान की जाए, जिससे कृषक कम लागत में सिंचाई योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ समय पर प्राप्त कर सकें। उन्होंने इस संबंध में कृषकों को जागरूक करने के दिशा निर्देश संयुक्त संचालक कृषि श्री एस.एन. धु्रव को दिए। उन्होंने कहा कि कोसारटेडा जलाशय का लाभ क्षेत्र के अधिक से अधिक कृषकों को मिले। उन्होंने लघु सिंचाई परियोजनाओं अंतर्गत निर्मित जलाशयों का नियमित निरीक्षण सुनिश्चित करते हुए जलाशयों के संधारण व संवर्धन हेतु विशेष प्रयास करने हेतु निर्देशित किया जिससे ग्रामीणाों को अधिकतम लाभ मिल सके।  
    इन्द्रावती परियोजना मण्डल जगदलपुर के अधीक्षण अभियंता श्री के.एस. भण्डारी ने जानकारी दी कि इन्द्रावती परियोजना मण्डल जगदलपुर के अन्तर्गत भौगोलिक क्षेत्रफल 39.11 लाख हेक्टेयर है एवं 8.21 लाख हेक्टेयर कुल बोया गया क्षेत्र है, जो कुल क्षेत्र का 20.99 प्रतिशत है। कुल भौगोलिक क्षेत्र का 93 प्रतिशत भाग गोदावरी कछार है एवं 7 प्रतिशत भाग महानदी कछार के अंतर्गत है। बस्तर क्षेत्र में 4 नग मध्यम सिंचाई योजनाएं है, परालकोट जलाशय, मयाना जलाशय, झीरम नदी व्यपवर्तन एवं कोसारटेडा जलाशय तथा 293 लघु सिंचाई योजनाएं हैं। इन योजनाओं से 85 हजार 285 हेक्टेयर खरीफ सिंचाई तथा 15 हजार 257 हेक्टेयर रबी, इस तरह कुल 100542 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई क्षमता निर्मित है।
    उन्होंने बताया कि बस्तर संभाग में 3 मध्यम योजनाओं का जल भराव क्षमता 132.84 मि.घ.मी. तथा 197 लघु सिंचाई योजनाओं का जल भराव क्षमता 122.185 मि.घ.मी. है। वर्तमान में इन जलाशय योजनाओं में कुल 128.271 मि.घ.मी. जल भराव हुआ है, जो कि क्षमता का 50.30 प्रतिशत है।
    बैठक में बस्तर उपायुक्त श्री जदुवीर राम, श्री एस.पी. नवरतन, जल संसाधन विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री के.एस. भण्डारी, संयुक्त संचालक कृषि श्री एस.एन. धु्रव, उप संचालक कृषि श्री कपिल देव दीपक सहित जल संसाधन विभाग तथा कृषि विभाग के अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

क्रमांक-/ 1190 /तंबोली

 


Secondary Links