रायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंच-सरपंचों को विकास कार्यों पर ध्यान देना जरूरी : समूह चर्चा में ग्राम विकास पर बातचीत का दौर

रायपुर, 12 दिसंबर 2017

हमर छत्तीसगढ़ योजना आवासीय परिसर उपरवारा में मंगलवार की दोपहर समूह चर्चा में बस्तर संभाग की तीन जिलों से आए पंच-सरपंचों ने शामिल होकर अपनी बात रखी. शासन की योजनाओं पर विषय विशेषज्ञों से बातचीत का यह दौर महत्वपूर्ण है, जिससे प्रतिनिधि अपनी जिम्मेदारी के संबंध में जागरूक हो रहे हैं.

अपर विकास आयुक्त एवं योजना के नोडल अधिकारी श्री सुभाष मिश्रा ने बस्तर, कांकेर एवं कोंडागांव जिले के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्राम पंचायत के सचिव के क्या कार्य होते हैं, आप लोगों के गाँव में क्या काम हो रहा है, उसका हिसाब रखना और कार्यों की गुणवत्ता का ख्याल रखना जरूरी है. प्रतिनिधियों के निर्देश और सहमति के बिना कोई भी दूसरा व्यक्ति काम नहीं कर सकता. इसलिए गांव का हर विकास कार्य शासन के नियमों के तहत आपके हिसाब से होना चाहिए. हम छत्तीसगढ़ के आम आदमी बहुत सीधे-सादे होते हैं, जिसका कोई कर्मचारी गलत उपयोग भी कर सकते हैं. इसलिए जागरूक रहना आवश्यक है. पुरखौती मुक्तांगन के लाइट एंड साउंड कार्यक्रम में सरपंच के कर्तव्यों के बारे में नाटक के माध्यम से बताया गया है कि आप सभी को अपना काम सही ढंग करना है, तभी ग्रामवासियों को आपके ऊपर विश्वास होगा.  

प्रभारी अधिकारी श्रीमती शिवानी श्रीवास्तव ने हमर छत्तीसगढ़ योजना से संबंधित  एप्स, सोशल मीडिया की जानकारी दी कि अपने ग्राम पंचायत के अध्ययन-भ्रमण की तस्वीरें और वीडियोज वेबसाईट पर फ़ोटो गैलरी में जाकर देख सकते हैं.  

प्रभारी अधिकारी सुश्री राधिका श्रीवास्तव, करारोपण अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह ठाकुर उपस्थित थे.  

विकास विस्तार अधिकारी श्री जे. के. मिश्रा ने राज्य एवं केंद्र शासन की बीमा योजनाओं की जानकारी दी. साथ ही प्रधानमंत्री मातृ प्रबंधन योजना एवं नोनी सुरक्षा योजना के संबंध में जानकारी दी.    

क्रमांक – 3928/ deys'k

 


Secondary Links