रायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : महिलाओं ने छेड़ा नशामुक्ति अभियान

रायपुर. 28 दिसम्बर 2017

बालोद जिले के कोलिहामार पंचायत की महिलाओं ने गांव को नशामुक्त करने का अभियान छेड़ रखा है। भारत माता वाहिनी का गठन कर वहां की महिलाएं शराबखोरी के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं। उनके कड़े विरोध के कारण गांव में शराब दुकान बंद हो गई है। महिलाओं की समझाइश पर गांव के कई लोगों ने नशे से तौबा कर ली है। गांव को साफ-सुथरा रखने के लिए भी यह महिलाएं काम कर रही हैं। इन महिलाओं की लगातार कोशिशों से गांव अब खुले में शौचमुक्त हो गया है।

       हमर छत्तीसगढ़ योजना में अध्ययन भ्रमण पर आईं बालोद जिले के गुरूर विकासखंड की कोलिहामार पंचायत की बुजुर्ग पंच श्रीमती पार्वती देवी बताती हैं कि पहले गांव में शराब दुकान के कारण कुछ लोग आए दिन नशे में धुत्त होकर उत्पात करते थे। शाम होने के बाद महिलाओं का घर से निकलना भी मुश्किल होता था। असामाजिक तत्व शराब पीकर अभद्र व्यवहार करते थे। शराब की वजह से घरों में रोज कलह होते रहता था।

वे बताती हैं कि वर्ष 2015 में जब सरकार ने पंचायतों में भारत माता वाहिनी गठित करने कहा, तो उनके गांव के सरपंच श्री लेखक चतुर्वेदी ने महिलाओं को संगठित होने के लिए प्रेरित किया। उनके मार्गदर्शन में 30 महिलाओं ने मिलकर भारत माता वाहिनी बनाया। वह खुद वाहिनी की प्रथम अध्यक्ष बनी। श्रीमती पार्वती देवी कहती हैं कि हमने 15-15 महिलाओं का समूह बनाकर रात्रिकालीन गश्त शुरू की। संघर्ष कर गांव में शराब दुकान बंद कराई। बाहर से शराब लेकर आने वाले लोगों को समझाइश दी गई।

      पंच श्रीमती पार्वती देवी बताती हैं कि नशाबंदी के साथ ही महिलाओं ने गांव को स्वच्छ रखने लोगों को घर में शौचालय बनाकर उसका इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया। भारत माता वाहिनी के सहयोग से अप्रैल 2017 में गांव खुले में शौचमुक्त भी हो गया। वाहिनी की महिलाएं स्वयं स्वच्छता के प्रति जागरूक हैं और ग्रामीणों को भी जागरूक कर रही हैं। वे हर सप्ताह किसी तालाब, नाली या गली की सफाई में जुट जाती हैं। वाहिनी के काम से गांव में काफी सकारात्मक बदलाव आया है।

श्रीमती पार्वती देवी बताती हैं कि रात में गश्त के लिए पंचायत की ओर से महिलाओं को डंडा, टॉर्च एवं सीटी दी गई है। सभी महिलाओं को ड्रेस भी दिया गया है। वाहिनी के सराहनीय कार्यों के लिए अध्यक्ष और सचिव को सम्मानित करते हुए मोबाइल फोन भी दिया गया है। अब फोन के जरिए वे किसी भी तरह की शिकायत या सूचना निकटवर्ती थाने में तत्काल दे देती हैं।

क्रमांक- 4187/कमलेश


Secondary Links