कोण्डागांव : जिले में लोक सुराज अभियान के प्रथम चरण का हुआ आगाज : अभियान के तहत कलेक्टर एंव कमिश्नर ने किया नगर एवं ग्रामों का सघन दौरा

अधिक से अधिक ग्रामीणों से लाभान्वित होने का किया आग्रह

कोण्डागांव, 12 जनवरी 2018

कोण्डागांव जिले में आम जनता की शिकायतो का निराकरण करने एवं विकास कार्यो को गति देने तथा योजनाओं के क्रियान्वयन का निरीक्षण एवं समीक्षा के उद्देश्य से चलाये जाने वाला महत्वाकांक्षी लोक सुराज अभियान का प्रथम चरण प्रारंभ हो गया है। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष पुनः लोक सुराज अभियान का आयोजन 3 चरणो में किया जायेगा जिसका प्रथम चरण 12 से 14 जनवरी (आवेदन प्राप्ति हेतु) द्वितीय चरण 15 जनवरी से 11 मार्च (निराकरण हेतु) एंव तृतीय चरण 12 मार्च से 31 मार्च (समाधान शिविर का आयोजन) तक होगा। प्रथम चरण हेतु जिले के संभी ग्राम पंचायतो विकास खण्ड मुख्यालयों नगरीय निकायो ं के कार्यालयों में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक आम जनता से उनकी समस्याओ के सबंध में आवेदन नोडल अधिकारी द्वारा प्राप्त करके इन्हे समाधान पेटी में रखा जायेगा। इसके अंतर्गत अभियान के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरणों के सुचारु रुप से क्रियान्वयन एवं सफल संचालन हेतु जिला कलेक्टर श्री नीलकण्ठ टीकाम ने दिनांक 12 जनवरी 2018 को जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतो का सघन दौरा किया। अपने औचक निरीक्षण में कलेक्टर ने ग्राम बम्हनी, सम्बलपुर,मसोरा के ग्रामीणों को अभियान के उद्देश्य के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हुए अभियान से लाभान्वित होने को कहा।
    जिले में अभियान के प्रथम चरण में ग्राम पंचायत में कहीं-कहीं आवेदन प्राप्त करने की रफ्तार कही धीमी रही और कहीं बड़ी भारी संख्या में ग्रामीणों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इस क्रम में कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम एंव कमिश्नर दिलीप वासनीकर ने ग्राम मसोरा के ग्राम पंचायत भवन में पहुंचकर आवेदन के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इसी ग्राम के एक वृद्ध ग्रामीण घसिया राम कोर्राम जिसने इंदिरा आवास हेतु अपना आवेदन प्रस्तुत किया था। उसने कलेक्टर को बताया कि गरीबी रेखा में नाम के बावजूद उसे अभी तक प्रधानमंत्री आवास प्राप्त नहीं हुआ है। इस पर कलेक्टर ने उसे मांग के संबंध में आश्वस्त करते हुए समझाया कि उसके आवेदन का निराकरण 15 जनवरी से 11 मार्च तक किया जायेगा और उसकी मांग पूरी की जायेगी। इसके अलावा उन्होंने आवेदन पत्र लिखने वाले कर्मचारियों को प्रत्येक आवेदककर्ता को पावती देने का सुनिश्चित देने का निर्देश देते हुए कहा कि एक व्यक्ति विभिन्न मांग एवं शिकायत संबंधी आवेदन दे सकता है। इसके साथ ही नोडल अधिकारियों द्वारा आवेदनकर्ताओं को योजनाओं से लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज संलग्न करने की भी जानकारी दी जानी चाहिए। इस मौके पर उन्होंने सरपंच, प्रेरक एवं रोजगार सहायक, सचिव को अभियान का ग्राम पंचायतों में व्यापक प्रचार-प्रसार एवं निरंतर मुनादी कराने का भी निर्देश दिया। उन्होंने प्रत्येक जनपद पंचायत नगरीय निकाय कार्यालय में रखे समाधान पेटियों के बारे में बताते हुए कहा कि इन पेटियों के माध्यम से भी गोपनीय आवेदन डाले जा सकते है और हर आवेदन के साथ प्रत्येक नागरिक को दूरभाष नम्बर, आधार नम्बर इत्यादि होने चाहिए। ताकि समाधान शिविरों में उनके आवेदनों पर की गई कार्यवाही का विस्तृत विवरण दिया जा सकें।
    इस दौरान कलेक्टर ने अभियान में उपस्थित सभी कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि अभियान के संचालन में किसी भी प्रकार की ढिलाई न बरते और आवेदनकर्ताओं को पूरा सहयोग देते हुए उनकी मांग एवं शिकायतों का भली-भांति रजिस्टर में दर्ज किया जाये।  
    उल्लेखनीय है कि शासन के निर्देशानुसार लोक सुराज अभियान 2018 के तहत तीनों चरणों के सफल क्रियान्वयन एवं आवेदनों एवं मांगो का गुणवत्ता पूर्वक निराकरण हेतु जिला प्रशासन द्वारा व्यापक व्यवस्थाऐं की गई है। आवेदन प्रस्तुत करने की तिथि 12,13, एवं 14 जनवरी तक निर्धारित है।
क्रमांक/497/रंजीत


Secondary Links