रायपुर : स्वामी विवेकानंद जयंती पर व्याख्यान सम्पन्न

रायपुर, 12 जनवरी 2018

राज्य शासन के संस्कृति विभाग द्वारा आज यहां महंत घासीदास संग्रहालय परिसर में स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर व्याख्यान आयोजित किया गया। इस अवसर पर भारतीय संस्कृति के उन्नायक स्वामी विवेकानंद विषय पर विवेकानंद आश्रम रायपुर के स्वामी अत्यात्मानंद जी एवं स्वामी प्रवत्यानंद जी प्रमुख वक्ता थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. मानसिंह परमार ने की।
    स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर आयोजित व्याख्यान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी अत्यात्मानंद ने कहा कि भारतीय संस्कृति दूसरे के लिए त्याग की रही है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति को पूर्णतः जानने के लिए स्वामी विवेकानंद को जानना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद के विचारों को आत्मसात कर युवा देश, प्रदेश और अपना सर्वांगीण विकास कर सकते हैं।
    व्याख्यान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी प्रवत्यानंद जी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने भारतीय संस्कृति को विश्व में प्रचारित किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में स्वामी विवेकानंद के आदर्शों के अनुसार कार्य हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ में स्वामी विवेकानंद के नाम पर भिलाई में विश्वविद्यालय है और रायपुर के एयर पोर्ट का नाम स्वामी विवेकानंद के नाम पर हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति श्री मानसिंह परमार ने कहा कि देश 65 प्रतिशत युवा है, जो स्वामी विवेकानंद से प्रेरणा लेकर देश को और ऊचाईयों तक ले जाकर विश्व में भारत का नाम रौशन कर सकते हैं। संस्कृति विभाग के संचालक श्री जितेन्द्र शुक्ला ने विवेकानंद जयंती पर आयोजित कार्यक्रमों की जानकारी दी।
इस अवसर पर संस्कृति विभाग द्वारा स्वामी विवेकानंद के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी, पुस्तक स्टाल सहित अन्य कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रम में विवेकानंद विद्यापीठ सहित अन्य स्कूली और कॉलेज के विद्यार्थी मौजूद थे।

क्रमांक-4457/चौधरी


Secondary Links