बीजापुर : ढाई वर्षों के दौरान 3459 हितग्राहियों को मिला वन अधिकार पत्र :  नक्सल प्रभावित 51 ग्रामों सहित नगरीय निकाय क्षेत्र में 50 हितग्राहियों को मिला पहली बार वन अधिकार पत्र

बीजापुर 14 सितम्बर 2021
 परंपरागत वन निवासी अधिनियम 2006 के तहत जिले में  अब तक 10897 व्यक्तिगत वन अधिकार पत्रों का वितरण किया गया है। वर्ष 2006 से दिसम्बर 2018 के पूर्व इन 12 वर्षों में मात्र 7338 व्यक्तिगत वन अधिकार मान्यता पत्र वितरित हुए थे। लेकिन विगत ढाई वर्षों के दौरान वन अधिकार पत्र व्यापक रूप से प्रदान करते हुए इन ढाई वर्षों में 3459 हितग्राहियों को वन अधिकार मान्यता पत्र वितरित किया गया है, जिसमें अभ्यारण क्षेत्र में 343 एवं इन्द्रावती उद्यान क्षेत्र में 481 हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र प्रदान किया गया है। नक्सल प्रभावित 51 ग्रामों के 352 हितग्राहियों को एवं नगरीय निकाय क्षेत्र में 50 हितग्राहियों को पहली बार वन अधिकार पत्र प्रदान किया गया है। वन अधिकार पत्र प्राप्त किसानों की आय में वृद्धि हेतु कार्ययोजना के तहत उनके खेतों में 237 डबरी निर्माण, भूमि समतलीकरण के 1006 कार्य एवं मिश्रित फलदार पौधारोपण के 64 कार्य हितग्राहियों की भूमि पर एवं 58 हितग्राहियों की भूमी पर नलकूप खनन के साथ-साथ गाय शेड, मुर्गी शेड, एवं सौर सुजला योजना के 09 प्रकरणों की स्वीकृति दी गई है।
इसी प्रकार ढाई वर्षों में धान बिक्री हेतु 1222 किसानों का पंजीयन किया गया है, जिसमें 1041 कृषकों के द्वारा 13615 क्विंटल धान बेचकर किसानों ने 254 लाख का आय अर्जित  किए वहीं 1041 वन अधिकार धारियों का किसान क्रेडिट कार्ड एवं 1089 किसानों का फसल बीमा भी कराया गया है। एवं वनोपज संग्रहण के कार्य एवं तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य से भी किसानों की आय में वृद्धि हुई।
इसी तरह जिले में ढाई वर्षों में 1589 सामुदायिक वन अधिकार एवं दिसम्बर 2008 के पश्चात् जिले में पहली बार 297 सामुदायिक वन अधिकार पत्रों का वितरण किया गया है।

महत्वपूर्ण लिंक