नारायणपुर : जिले के शिल्पियों की कला की चर्चा न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी - हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं विधायक श्री चंदन कश्यप  :  50 शिल्पियों को उन्नत टूलकिट एवं 50 शिल्पियों को पहचान पत्र वितरित

नारायणपुर, 14 सितम्बर 2021

जिले के शिल्पियों की कला की चर्चा न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी फैली हुई है। इस कला को और अधिक निखारने के लिए षासन-प्रशासन द्वारा अनेक प्रयास किये जा रहे हैं। आप में हुनर की कमी नहीं है, जरूरत है तो उसे और अधिक निखारने और उजागर करने की उक्त बातें छत्तीसगढ़ हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक श्री चंदन कश्यप ने आज जिला मुख्यालय में आयोजित वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार द्वारा स्वीकृत टूलकिट वितरण कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने शिल्पियों से कहा कि आप अपनी कला को प्रतिदिन बेहतर करते जाये और ऐसी सामग्रियां तैयार करें, जो बाजार में तत्काल बिक जाये। उन्होंने शिल्पियों को समझाईश देते हुए कहा कि कबाड़ से जुगाड़ के मंत्र को ध्यान में रखते हुए कार्य करें। आज इस टूलकिट वितरण कार्यक्रम में जो औजार आपको दिये जा रहे हैं। ये आपके काम में निखार लाने में मददगार सिद्ध होगा। जिससे आपकी आय बढ़ेगी और आपका परिवार खुशहाली की ओर अग्रसर होगा। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ष्यामबती नेताम, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री देवनाथ उसेण्डी, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी, कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू, डीएफओ श्री षशिदानंदन के, जिला पंचायत के मुर्ख्यपालन अधिकारी श्री पोशण चंद्राकर विशेश रूप से मौजूद थे। 

छत्तीसगढ़ हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक श्री चंदन कश्यप ने कहा कि स्थानीय शिल्पियों द्वारा तैयार की गयी सामग्री के विक्रय हेतु विशेश व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने जिला प्रशासन से आग्रह करते हुए कहा कि बांस शिल्प के सामने विक्रय हेतु जगह उपलब्ध करायी जाये। संभव हुआ तो छत्तीसगढ़ हस्त शिल्प विकास बोर्ड द्वारा इसकी व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि षासकीय आयोजनो ंमें पुरस्कार स्वरूप दिये जाने वाले स्मृति चिन्ह बांस शिल्प द्वारा संचालित केन्द्रे से ही क्रय किये जाये, ताकि यहां के लोगों को रोजगार की उपलब्धता हो सके। 

कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू ने संबोधित करते हुए कहा कि इस टूलकिट का सही उपयोग आपका जीवन बदल सकता है। उन्होंने कहा कि बांस से तेयार की जाने वाली सामग्रियों के लिए जिला प्रशासन कच्चा बांस उपलब्ध कराया जायेगा। कलेक्टर ने कहा कि जिला स्तर व राज्य स्तर पर इन सामाग्रियों के विपणन की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी। इसके लिए हरसंभव मदद उपलब्ध करायी जायेगी। किसी भी प्रकार की दिक्कत या परेशानी होने पर आप जिला प्रशासन को अवगत करा सककते हैं, जिसका त्वरित निराकरण किया जायेगा। कार्यक्रम को जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ष्यामबती नेताम, जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री देवनाथ उसेण्डी, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम के आरंभ में हस्तशिल्प विकास बोर्ड के श्री मीणा ने शिल्पियों के हितों के लिए षासन द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं विपणन योजना, डिजाईन डेव्हलपमेंट, शिल्पि आईकार्ड, पेंशन योजना, पुरस्कार येाजना, भौगोलिक सूचकांक (जीआई) सहित अन्य योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी और इन योजनाओं का लाभ उठाने का आग्रह किया। कार्यक्रम में बांस शिल्प में कार्यरत 50 शिल्पियों को उन्नत टूलकिट का वितरण अतिथियों द्वारा किया गया। वहीं 50 शिल्पियों को भारत षासन द्वारा प्रदत्त पहचान पत्र प्रदान किया गया।  इस मौके पर एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग, सांसद प्रतिनिधि श्री अजय देशमुख, पार्शदगण के अलावा बासशिल्प केन्द्र के अधिकारी-कर्मचारी व शिल्पि मौजूद थे।

एस.शुक्ल/राहुल/933

महत्वपूर्ण लिंक