मुख्य सामग्री पर जाएं
स्क्रीन रीडर एक्सेस
गुरुवार, 08 जून 2023
मुख्य समाचार:

रायपुर : छत्तीसगढ़ की खेल अकादमियों ने रचे सफलता के कीर्तिमान

छत्तीसगढ़ की खेल अकादमि

कोविड की चुनौतियों के बावजूद चार सालों में राज्य में खुली कई खेल अकादमियां

खिलाड़ियों को तराशने के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ बेहतर प्रशिक्षण भी

राज्य के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्पर्धाओं में बटोरे कई पदक 

रायपुर, 07 फरवरी 2022

कोविड की चुनौतियों के बावजूद चार सालों में राज्य में खुली कई खेल अकादमियांखिलाड़ियों को तराशने के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ बेहतर प्रशिक्षण भीकोविड की चुनौतियों के बावजूद चार सालों में राज्य में खुली कई खेल अकादमियांखिलाड़ियों को तराशने के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ बेहतर प्रशिक्षण भीकोविड की चुनौतियों के बावजूद चार सालों में राज्य में खुली कई खेल अकादमियांखिलाड़ियों को तराशने के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ बेहतर प्रशिक्षण भीकोविड की चुनौतियों के बावजूद चार सालों में राज्य में खुली कई खेल अकादमियांखिलाड़ियों को तराशने के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ बेहतर प्रशिक्षण भी

छत्तीसगढ़ में खेल गतिविधियों के विकास एवं खेल प्रतिभाओं के तराशने के लिए राज्य शासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों के अंतर्गत विगत चार वर्षों के दौरान स्थापित विभिन्न खेल अकादमियों ने सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित किए हैं। इस दरम्यान आए कोरोना संकट के बावजूद राज्य में नयी खेल अकादमियों की स्थापना की तैयारियां एवं खेल-गतिविधियां निरंतर चलती रही हैं। 
चार साल पहले जब राज्य में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में नयी सरकार बनी तब खेल-कूद के क्षेत्र में अपनी प्राथमिकताएं तय करने हुए शासन ने राज्य में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करते हुए आगे बढ़ाने का संकल्प लिया था। मुख्यमंत्री ने इसके लिए सभी तरह की विश्वस्तरीय अधोसंरचना के निर्माण का वादा किया था। कोरोना संकट गहराने के ठीक पहले वर्ष 2019 के बाद रायपुर में गैर आवासीय फुटबॉल बालिका अकादमी और संकट छंटने के बाद 2021 में गैर आवासीय एथलेटिक अकादमी प्रारंभ कर दी गई। वर्ष 2022 में बिलासपुर आवासीय अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर तथा रायपुर की तीरंदाजी आवासीय अकादमी का संचालन शुरू कर दिया गया।  
वर्ष 2019 के बाद बिलासपुर में तीरंदाजी,  हॉकी,  एथलेटिक की आवासीय अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर, 2021 में शिवतराई बिलासपुर में तीरंदाजी उपकेन्द्र, 2022 में बालिका कबड्डी अकादमी बिलासपुर एवं रायपुर में आवासीय तीरंदाजी अकादमी,  गैरआवासीय फुटबॉल (बालिका) एवं गैर आवासीय एथलेटिक अकादमी प्रारंभ हुई। वर्ष 2019 के पूर्व राज्य में केवल 02 गैरआवासीय अकादमी हॉकी एवं तीरंदाजी की स्वीकृति थी परंतु इनका अकादमी के रूप में संचालन न होकर केवल नियमित प्रशिक्षण केन्द्र के रूप में हो रहा था। गैर आवासीय हॉकी एवं तीरंदाजी अकादमी रायपुर के लिए वर्ष 2020 में निर्धारित चयन ट्रायल की प्रक्रिया पूरी कर नियमित रूप से अकादमी संचालन प्रारंभ हुआ।
अकादमी के खिलाड़ियों ने जीते कई पदक 
वर्ष 2021 में शिवतराई तीरंदाजी उपकेन्द्र शुरू होने के बाद इस केन्द्र से कुबेर सिंह,  विकास कुमार, संदीप,  हेमंत,  देवेन्द्र कुमार,  पायल मरावी,  तुलेश्वरी,  आकाश राज,  अजय कुमार का चयन विभिन्न नेशनल तीरंदाजी प्रतियोगिता के लिए राज्य के दल हुआ। इन खिलाड़ियों ने पदक भी हासिल किए। उपकेन्द्र की उपलब्धियों के कारण साई द्वारा इसे खेलो इंडिया सेंटर के रूप में मंजूरी भी दी गई। 
 फुटबॉल गैरआवासीय बालिका की खिलाड़ी कु. किरन पिस्दा ने साउथ एशियन फुटबॉल फेडरेशन प्रतियोगिता में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया तथा वे 2021 में भारतीय टीम के कैम्प के लिए चयनित भी हुईं। अकादमी की प्रियंका फुटान,  भूमिका साहू,  उर्वशी,  संजना छूरा,  नेहा वंशी,  नीलिमा खाखा,  देवंतिन,  जागृति,  ऋतु का चयन 19 वीं नेशन इनक्लुसन कप हेतु भी हुआ, जोकि नागपुर में आयोजित है।
बिलासपुर आवासीय अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर के हॉकी खिलाड़ी आदित्य कुमार ने भारतीय खेल प्राधिरकरण द्वारा आयोजित जूनियर वर्ग के इंडिया असेंसमेंट कैंप बंगलुरू-2022 में भागीदारी की। पश्चिम बंगला में जनवरी-2023 में आयोजित ऑल इंडिया हॉकी टूर्नामेंट में अकादमी की गीता यादव, संपदा,  मम्तेश्वरी,  दामिनी,  जान्हवी,  रूखमणी मधु सिदार ने चयनित होकर पदक अर्जित किया है। एथलेटिक खिलाड़ी अंकित अहलावत ने नेशनल जूनियर मीट प्रतियोगिता आंध्रप्रदेश में कांस्य पदक प्राप्त किया है। एथलेटिक खिलाड़ी अमित कुमार ने वेस्ट जोन प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक प्राप्त किया।
रायपुर तीरंदाजी अकादमी के खिलाड़ी शुभम दास ने ऑल इंडिया यूनिवर्सटी तीरंदाजी प्रतियोगिता में दो स्वर्ण पदक प्राप्त किया गया है।
इसके साथ ही नारायणपुर जिले में राज्य शासन मलखम्ब अकादमी खोलने जा रहा है। नारायणपुर क्षेत्र के मलखम्ब खिलाड़ियों ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स में पदक अर्जित किया है तथा नेशनल प्रतियोगिता हेतु चयनित भी हो चुके हैं। 
अच्छी खेल अधोसंरचनाओं के साथ अच्छे प्रशिक्षक भी
खिलाड़ियों की प्रतिभा को तराशने के अकादमियों में अच्छी खेल अधोसंरचनाओं के साथ-साथ अच्छे प्रशिक्षकों की तैनाती भी की गई है। बिलासपुर अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर में वर्तमान में हाईफरफार्मेन्स मैनेजर,  हेड कोच एथलेटिक,  हेड कोच आरचरी,  फिजियो,  स्ट्रैन्थ कंडीशनिंग एक्सपर्ट,  यंग प्रोफेशनल एवं विभागीय हॉकी के वरिष्ठ प्रशिक्षक (एन.आई.एस) एवं प्रशिक्षक पदस्थ हैं। रायपुर में फुटबॉल के लिए वरिष्ठ प्रशिक्षक (एन.आई.एस) एवं तीरंदाजी एवं एथलेटिक के लिए 01-01 प्रशिक्षक (एन.आई.एस) अपनी सेवा दे रहे हैं । हेड कोच हॉकी की भर्ती प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है, शीघ्र ही हेड कोच हॉकी की सेवाएं बिलासपुर अकादमी को प्राप्त होने लगेगी।
खिलाड़ियों को डाइट मनी सहित अधिकतम सुविधाएं
वर्ष 2022-23 के लिए अक्टूबर-2022 में सभी डे-बोर्डिंग के खिलाड़ियों के लिए डाइट मनी के तौर पर 2 लाख 26 हजार 750 रुपए को जारी किए गए हैं। शिवतराई उपकेन्द्र के खिलाड़ियों को 2 लाख 57 हजार रुपए की डाइट मनी प्रदान की गई है। 
खेलों के विकास में उद्योगों से भी सहयोग
वर्ष 2019 के बाद से राज्य शासन द्वारा खेल-विभाग के माध्यम से खेल अकादमियों की स्थापना, अधोसंरचना तथा बेहतर सुविधाओं के विकास के लिए लगातार कदम उठाए गए हैं। छत्तीसगढ़ खेल विकास प्राधिकरण के अंतर्गत राज्य में उद्योग समूहों के माध्यम से भी कई खेल अकादमियां शुरू की जा रही हैं। जिंदल उद्योग समूह द्वारा रायपुर में शूटिंग अकादमी,  बीएसपी द्वारा नारायणपुर में मलखम्ब अकादमी,  गोपाल स्पंज एवं फिल इस्पात द्वारा बिलासपुर कबड्डी अकादमी तथा कोरबा में फुटबॉल,  तैराकी,  बास्केटबॉल, वालीबॉल की अकादमी का बालको के सहयोग से संचालन किया जाएगा। राज्य शासन द्वारा खेल अकादमियों में शैक्षणिक व्यय,  भोजन,  आवास,  खेल परिधान,  आधुनिक प्रशिक्षण,  बीमा, डाइट  आदि की सुविधा निःशुल्क उपलब्ध कराई जाती हैं।
6813/सचिन