मुख्य सामग्री पर जाएं
स्क्रीन रीडर एक्सेस
गुरुवार, 07 दिसंबर 2023
मुख्य समाचार:

बिलासपुर : मुख्यमंत्री ने बेरोजगारी भत्ता योजना की द्वितीय किश्त की राशि हितग्राहियों के खाते में अंतरित की

बिलासपुर

जिले के 5 हजार 874 पात्र हितग्राहियों के खाते में राशि अंतरित

युवाओं को भत्ते के साथ मिल रहा कौशल विकास प्रशिक्षण
बिलासपुर, 31 मई 2023

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने रायपुर स्थित अपने आवासीय कार्यालय से आज बिलासपुर सहित पूरे राज्य के बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत पात्र हितग्राहियों के खाते में बटन दबाकर द्वितीय किश्त की राशि अंतरित की। मुख्यमंत्री के बटन दबाते ही जिले के 5 हजार 847 युवाओं में खुशी की लहर दौड़ गई। इन हितग्राहियों के खाते में 2500 रूपये अंतरित किये गये, जो प्रतिमाह दिये जा रहे हैं। बिलासपुर स्थित जिला कार्यालय सभाकक्ष में संसदीय सचिव एवं विधायक श्रीमती रश्मि आशीष सिंह, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री अटल श्रीवास्तव, महापौर श्री रामशरण यादव, कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सहित अन्य अधिकारी और युवा वर्चुअली शामिल हुए।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर युवाओं को शुभकामनाएं देते हुए प्रदेश के विभिन्न जिलों के युवाओं से चर्चा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिले के युवा लालाराम कर्ष एवं हिमांशी कदम से भी बातचीत की। मुख्यमंत्री को श्री लालाराम ने बताया कि उन्हें बेरोजगारी भत्ते के दूसरी क़िस्त की राशि मिल गई है। इस योजना के माध्यम से वे अभी असिस्टेंट इलेक्ट्रिशियन का प्रशिक्षण भी प्राप्त कर रहे हैं। प्रशिक्षण के बाद वे स्वयं का इलेक्ट्रॉनिक दुकान शुरू करना चाहते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को इस योजना के धन्यवाद दिया। हिमांशी कदम ने बताया कि बेरोजगारी भत्ता की राशि की दोनों क़िस्त मिल गई है। उन्हें विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में मदद मिल रही है। इससे परिवार का आर्थिक भार भी कम हो गया है। भत्ते के साथ प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है, इससे हमें रोजगार भी मिलेगा। इसके लिये उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।  
  उल्लेखनीय है कि बिलासपुर जिले में बेरोजगारी भत्ता के तहत अब तक 10 हजार 62 युवाओं ने पंजीयन कराया है, जिनमें से 5 हजार 847 पात्र युवाओं को बेरोजगारी भत्ता योजना की राशि स्वीकृत हुई है। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता मिलने के साथ ही उनकी रुचि के अनुसार उन्हें कौशल विकास प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के बाद उन्हें रोजगार मिलेगा और वे स्वयं का व्यवसाय भी शुरू कर सकेंगे।
सोरी/141/598