मुख्य सामग्री पर जाएं
स्क्रीन रीडर एक्सेस
रविवार, 10 दिसंबर 2023
मुख्य समाचार:

बीजापुर : बीजापुर स्थित आडिटोरियम में आयोजित हुआ मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण पुरूस्कार 2023

मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक श्री विक्रम शाह मंडावी ने शिक्षकों को अलंकरण पुरूस्कार प्रदान किया
बीजापुर 05 सितम्बर 2023

05 सितंबर को देश के प्रथम उपराष्ट्रपति स्वर्गीय श्री सर्वपल्लीय राधाकृष्णन के जन्म दिवस को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। शिक्षकों के समाज में अतुलनीय योगदान होता है जिसे इस दिवस को विशेष रूप से शिक्षको को सम्मानित करने विविध कार्यक्रम आयोजित होते है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण सहित विभिन्न पुरूस्कारों से सम्मानित किया जाता है। इसी क्रम में जिला स्तर कार्यक्रम का आयोजन बीजापुर स्थित आडिटोरियम में आयोजित हुआ जिसमें कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक एवं बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री विक्रम शाह मंडावी ने जिले के 12 शिक्षकों को मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण "शिक्षादूत" पुरूस्कार 2023 से सम्मानित किया। जिसमे भोपालपटनम ब्लाक के 03 प्रधान पाठक, बीजापुर ब्लाक के 03, भैरमगढ़ एवं उसूर ब्लाक के 3-3 प्रधान पाठकों एवं सहायक शिक्षको को प्रदान किया गया। इस पुरूस्कार के साथ 5 हजार रूपए एवं प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह, शाल एवं श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। इसी तरह 03 शिक्षकों को मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण "ज्ञानदीप" पुरूस्कार 2023 प्रदान किया जिसमे सात हजार रूपए, प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह, शाल एवं श्रीफल प्रदान किया गया। इसके अतिरिक्त उत्कृष्ट कार्य करने वाले सभी ब्लाकों के 9 शिक्षको, प्रधान पाठको को विशेष पुरूस्कार के रूप में नगद पुरूस्कार, प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह शाल एवं श्रीफल  भेंटकर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि विधायक श्री विक्रम शाह मंडावी ने अपने उद्बोधन मे कहा कि बीजापुर की भौगोलिक स्थिति विषम है। नदी-नाला, पहाड़, पर्वत और अतिसंवेदनशील क्षेत्रों मे होने के बावजूद अंदरूनी क्षेत्रों के बच्चो को शिक्षा को मुख्यधारा से जोड़कर समाज की मुख्यधारा मे लाने का बेहतर प्रयास कर रहे है। यहां के शिक्षको की कई विषम परिस्थिति और संसाधनो के अभाव का भी सामना करना पड़ता है। फिर भी अपने ज्ञान दान देने का कर्तव्य निरंतर कर रहे है जो काफी प्रशंसनीय है। जिले के अति सुदूर क्षेत्रों के लगभग दो सो स्कूलों के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने बंद स्कूलों को पुनः खोला गया है। जिसमें जिले के 7 हजार से अधिक नौनिहाल शिक्षा के मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं। जिसे हमारे शिक्षादूतों के माध्यम से शिक्षा दी जा रही है। आज बीजापुर शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ रहा है और भविष्य मे शिक्षा के क्षेत्र में अपना कीर्तिमान स्थापित करेगा।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री राजेन्द्र कुमार कटारा ने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस के अवसर पर सम्मानपूर्वक बधाई एवं शुभकामनाएं दी कलेक्टर ने कहा कि शिक्षा किसी भी सभ्य समाज का रीढ़ है। शिक्षा से सर्वांगीण विकास संभव हो पाता है। कलेक्टर ने कहा कि जिले के विकास मे मेरी सबसे पहली प्राथमिकता शिक्षा है। इसे लेकर हम कार्य कर रहे है और हमे सकारात्मक परिणाम भी मिल रहे हैं सभी बच्चो में प्रतिभाएं छिपी होती है जिसे शिक्षक उन्हे सही राह दिखाता है, मार्गदर्शन देता है तब बच्चों का सर्वार्गीण विकास होता है और वे अपने परिवार समाज और देश का नाम रौशन करता है। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री शंकर कुड़ियम, जनपद अध्यक्ष श्रीमती बोधी ताती, नगरपालिका अध्यक्ष श्री बेनहूर रावतिया, उपाध्यक्ष श्री पुरूषोत्तम सल्लूर, जिला पंचायत सीईओ श्री रवि कुमार साहू, जिला शिक्षा अधिकारी श्री बलीराम बघेल सहित जनप्रतिनिधिगण एवं जिला स्तर के वरिष्ठ अधिकारीगण, शिक्षक-शिक्षिकाएं प्राचार्य एवं प्रधान पाठकगण उपस्थित थे।